News

1

घुमंतु लोगों के साहित्य में भारतीय मिट्टी की सुगंध – गिरीश प्रभुणे

महाराष्ट्र में दो दिवसीय समरसता साहित्य सम्मेलन संपन्न पुणे (व्हिएसके) 10.12.2017: समाज में व्याप्त कुरीतियों को दूर कर समरसतापूर्ण जीवन, सबके प्रति आत्मीयता रखने वाला जीवन समाज में […]

12 December 2017
 
1

संस्कारित समाज की रचना से ही सामाजिक परिवर्तन संभव – सुरेश भय्याजी जोशी

25 फरवरी 2018 को होने वाले ‘राष्ट्रोदय’ कार्यक्रम के लिये भूमि पूजन मेरठ (विसंकें). मेरठ में ‘राष्ट्रोदय’ कार्यक्रम हेतू जागृति विहार एक्सटेंशन में तैयार किए गए संघ स्थान का विधिवत भूमि पूजन […]

12 December 2017
 
1

भारत भूमि पर विकसित सभी दर्शनों में सबके कल्याण का विचार – जे नंदकुमार जी

भोपाल (विसंकें). प्रज्ञा प्रवाह के राष्ट्रीय संयोजक जे. नंदकुमार जी ने कहा कि भारतीय दृष्टि समूची सृष्टि को ईश्वर ही मानती है. मनुष्य मात्र में […]

8 December 2017
 
123

परावर्तन के योद्धा-मोहन जोशी नहीं रहे.

**श्रद्धांजलि** विसंके जयपुर। राजस्थान में संघ कार्य का विस्तार करने वाले श्री मोहन जोशी प्रातः ब्रह्ममुहूर्त में ब्रह्मलीन हो गये। आज पौष कृष्ण प्रतिपदा, वि.स. […]

4 December 2017