News

1

समृद्धि और संस्कृति साथ-साथ चलनी चाहिए : डॉ. बजरंग लाल गुप्त

नई दिल्ली (इंविसंके). प्राचीन भारत की समृद्ध अर्थव्यवस्था एवं तत्कालीन सामाजिक ताने-बाने पर आधारित पुस्तक ‘प्राचीन भारतीय अर्थ-चिंतन’ पुस्तक का लोकार्पण डॉ. मुरली मनोहर जोशी […]

29 June 2016
 
1

जल व्यवस्थापन क्षेत्र मे लातूरवासियों का प्रयास देश के लिए दिशादर्शक – डॉ.मोहनजी भागवत

लातूर (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहनजी भागवत  ने कहा कि प्राकृतिक आपदा में हाथ पार हाथ धरे न बैठकर पूरे धैर्य एवं […]

27 June 2016
 
03

यह मेरा देश है. यह मेरी भूमि है. ऐसी सोच विकसित करना ही शासन का दायित्व है – डॉ. मोहनजी भागवत

जोधपुर (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि दूरदर्शी एवं डायनमिक व्यक्तित्व के स्वामी छत्रपति शिवाजी महाराज श्रीमंत योगी थे. […]

20 June 2016
 
1

जो विकास सर्वथा समाज और प्रकृति के हित में हो, उसका मार्ग प्रशस्त करना चाहिए – डॉ. मोहनजी भागवत

नई दिल्ली. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि भारत के पुरातन ज्ञान और परंपरा को नकार कर किया गया […]

18 June 2016