1

चंद्रकांत जी का बलिदान कार्यकर्ताओं व राष्ट्रभक्त समाज को प्रेरणा देता रहेगा – सुरेश सोनी जी

जम्मू कश्मीर. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ जम्मू-कश्मीर प्रांत द्वारा बलिदानी चन्द्रकान्त जी को भावभीनी श्रद्धांजलि देने के लिए कार्यक्रम का आयोजन ईडन गार्डन, अखनूर रोड,जम्मू में किया गया. स्वर्गीय चन्द्रकान्त जी तथा उनके अंगरक्षक स्वर्गीय राजेन्द्र कुमार जी की आतंकवादियों द्वारा अंधाधुंध गोलियां चलाकर निर्मम हत्या कर दी गई थी. कार्यक्रम में जम्मू महानगर के असंख्य नागरिकों ने भाग लिया और पुष्पांजलि अर्पित की. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह सुरेश जी सोनी, अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख अरुण कुमार जी, अखिल भारतीय सह सम्पर्क प्रमुख रमेश जी पप्पा, प्रान्त संघचालक ब्रिगेडियर सुचेत सिंह जी एवं अन्य कार्यकर्ताओं ने भी श्रद्धा सुमन अर्पित किए.

सुरेश सोनी जी ने श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए कहा कि स्वर्गीय चन्द्रकान्त निरन्तर 33 वर्षों से संघकार्य में सक्रिय थे. हिन्दू समाज को जोड़ने, जागरूक करने तथा संघर्षों से जूझने की प्रेरणा वह देते रहे. यह उन्हीं का प्रयास था कि राष्ट्रभक्त हिन्दू समाज ने अलगाववादी शक्तियों का इस दुर्गम क्षेत्र में डटकर मुकाबला किया. उनका बलिदान हमेशा कार्यकर्ताओं एवं हिन्दू समाज को प्रेरणा देता रहेगा. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ आतंकवादियों के इस अमानवीय कृत्य की घोर निन्दा करता है. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ सदैव राष्ट्रभक्त नागरिकों तथा सुरक्षा बलों के साथ है तथा सुरक्षाबल इन अलगाववादी शक्तियों का पुरजोर मुक़ाबला करें, ताकि प्रान्त के राष्ट्रभक्त नागरिक शांति के साथ जीवन यापन कर सकें.

अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख अरुण कुमार जी, जो जम्मू कश्मीर प्रान्त में सात वर्षों तक प्रान्त प्रचारक भी रहे, उन्होंने अपने कार्यकाल में उनके द्वारा किए गए कार्य के विषय में कहा कि स्वर्गीय चन्द्रकान्त अनेक गुणों से सम्पन्न कार्यकर्ता थे. वह एक कुशल संगठनकर्ता, कार्यकर्ताओं की संभाल तथा नित्य चिन्ता करने वाले तथा संघ के प्रति पूर्ण रूप से समर्पित कार्यकर्ता थे. उन्होंने समाज के अनेक बंधुओं को संघ के साथ जोड़ा तथा निरन्तर संघकार्य में लगे रहने की प्रेरणा दी. डोडा, किश्तवाड़ में आतंकवाद के दौर में भी सेना का सतत सहयोग करते हुए वहाँ आतंकवाद से जूझते हुए, अपनी व अपने परिवार की चिन्ता न करते हुए स्थानीय नागरिकों का मनोबल बढ़ाया. इस कारण आम समाज में भी उस दौर में अपने स्थान पर जमकर डटे रहने की हिम्मत बनी रही.

श्रद्धांजलि कार्यक्रम में उपस्थित नागरिकों ने बलिदानी चन्द्रकान्त जी को पुष्पांजलि अर्पित की.

2

4

Periodicals