भूटान पर्यावरण की क़ीमत पर विकास के लिए तैयार नहीं हैं : शेरिंग तोबगे (प्रधानमंत्री, भूटान)

​​
​​ 11.01.2015. गांधीनगर, गुजरात : भूटान के ​ प्रधानमंत्री श्री ​शेरिंग तोबगे ​ने 7वीं वाइब्रेंट परिषद में अपने वक्तव्य से सबका मन मोह लिया। उन्होंने कहाँ हमारे लिए GDP से अधिक महत्वपूर्ण GNH – कुल राष्ट्रिय सुखकारी हैं. हमारा छोटा सा देश हिमालय की पहाड़ियों में एक तरफ चीन और दूसरी तरफ भारत जैसे शक्तिशाली देशों के बीच सैंडविच जैसा है जिसका समग्र अर्थतंत्र 170 लाख अमेरिकन डॉलर हैं जिससे अधिक संपत्ति भारत में और इस हॉल में मौजूद अनेक महानुभावो के पास हैं.  हमारे भूटान का 72% भाग वनाच्छादित हैं,  भूटान में आरोग्य सेवा तथा प्राथमिक शिक्षण से कॉलेज तक का शिक्षण निशुल्क हैं. हमारे यहाँ प्राकृतिक संपदा के संरक्षण के साथ साथ सामाजिक प्रगति हो रही हैं.  श्री शेरिंग ने कहाँ ​भूटान पर्यावरण की क़ीमत पर विकास के लिए तैयार नहीं हैं. उन्होंने विविध देशो के अग्रणी उद्योगपतिओ को भूटान में सजीव खेती, शिक्षण, रिन्यूएबल एनर्जी, हाइड्रो एनर्जी, इलेक्ट्रॉनिक्स और इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी के लिए आने का निमंत्रण दिया​.
112

 

Periodicals