महापुरषो के मार्ग पर चलना ही धर्म-श्री अरुणकुमार :संयोजक जम्मू कश्मीर अध्ययन केंद्र

सीमा जनकल्याण समिति, गुजारत एवं दत्त उत्सव समिति, कच्छ द्वारा शनिवार 6 दिसंबर को आयोजित भगवान दत्तात्रेय जयंती के अवसर पर आयोजित धर्म सभा को संबोधित करते हुए श्री अरुणकुमारजी ने कहाँ कि हमारे महापुरषों जिस मार्ग पर चल रहे है उस मार्ग पर चलना ही धर्म है. इस अवसर पर दत्त उत्सव समिति, कच्छ के प्रांत प्रमुख डॉ. जयंतीभाई भाडेसिया, रा.स्व.संघ के प्रांत प्रचारक श्री चिंतनभाई उपाध्याय, महंत श्री जगदीशभारतीजी, गुजरात सरकार के मंत्री श्री शंकरभाई चौधरी सहित अनेक गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे.

2

इससे पहले पत्रकारो से बातचीत करते हुए श्री अरुणजी ने जम्मू कश्मीर की स्थिति की चर्चा की उन्होंने कहाँ की जम्मू कश्मीर भारत का ऐसा राज्य है जहाँ पंचायती राज नहीं है, देश के संविधान की वहाँ 260 धाराए लागु पड़ती है 100 धाराए ऐसी है जो जम्मू कश्मी में अधूरी है अथवा असंशोधित हैं. धारा  370 के विषय में उन्होंने कहाँ की यह धारा संसद भी दूर कर सकती है. श्री अरुणजी ने कहाँ की कश्मीरी भी अब लोकतंत्र के प्रति जागरूक हुए है तथा बुलेट के बदले बेलेट को महत्व देने लगे है. हाल ही में हुआ मतदान इसी ओर संकेत करता है.

3

4

6

7

5

Periodicals