1

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, संघ शिक्षा वर्ग – तृतीय वर्ष का शुभारंभ ‌

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, संघ शिक्षा वर्ग – तृतीय वर्ष का शुभारंभ ‌नागपुर रेशिमबाग स्थित डॉ. हेडगेवार स्मृति भवन परिसर के महर्षि व्यास सभागृह में आज प्रातः संपन्न हुआ. उद्घाटन समारोह मे रा. स्व. संघ के सरकार्यवाह मा. भय्याजी जोशी जी ने देशभर के सभी प्रान्तों से आए शिक्षार्थियों को उद्बोधित करते हुए कहा कि ‘संघ शिक्षा वर्ग – तृतीय वर्ष’ शिक्षा वर्ग यह अपने जीवन का एक सुनहरा अवसर है. हम सब यहाँ चयनित कार्यकर्ता है. इस वर्ग में शारीरिक, बौद्धिक शिक्षा के साथ साथ स्वयं का आत्ममंथन भी जरूरी है. जितना आत्ममंथन हम करेंगे उतने ही हम उन्नत होंगे.

राष्ट्र के उन्नती के लिये “दृष्टी की व्यापकता” आवश्यक होती है. ‘अखिल भारतीय दृष्टी’ होना और ‘अखिल भारतीयता’ कि अनुभूती होना यह दो भिन्न बाते हैं. स्वयंसेवक होने से ‘अखिल भारतीय दृष्टी’ तो हमें प्राप्त होती ही है. पर इस वर्ग में आपको ‘अखिल भारतीयता’ कि अनुभूती होगी और इससे आपके ‘अखिल भारतीय दृष्टी’ मे व्यापकता भी आयेगी.

मा. भय्याजी जोशी जी ने शिक्षण की प्रक्रिया को समझाते हुए कहा  कि जो सुना उसको समझना, उसका आकलन होना आवश्यक है. जिसका आकलन हुआ उसको मनसे स्वीकार करना और जिसको मन से स्वीकृत किया उसको आचरण मे लाना यह आवश्यक है.

जीवन में अंतर्बाह्य शुचिता ,ध्येय के प्रति प्रतिबद्धता एवं तृतीय वर्ष के बाद जीवन भर सक्रिय रहकर कार्य करना यही इस शिक्षा वर्ग का सार है.

मा. सरकार्यवाह जी ने तृतीय वर्ष शिक्षा वर्ग के अधिकारीयों का परिचय करवाया. समारोह के प्रारंभ में अखिल भारतीय सहसरकार्यवाह मा. भागय्या जी ने उपस्थित अन्य अधिकारियों का परिचय करवाया. इस वर्ग मे ८२८ प्रशिक्षार्थी सम्मिलित हुये है. वर्ग का समापन १६ जून २०१९ को होंगा.

 रा.स्व.संघ, संघ शिक्षा वर्ग – तृतीय वर्ष अधिकारी परिचय

 मा. सर्वाधिकारी :- मा. अनिरुद्ध जी देशपांडे (अखिल भारतीय संपर्क प्रमुख)

 कार्यवाह :- मा. भारत भूषणजी,  (दिल्ली प्रान्त कार्यवाह)

 पालक अधिकारी :-  मा. जगदीश प्रसादजी , (अखिल भारतीय सह शारीरिक प्रमुख)

 मुख्य शिक्षक :- श्री. गंगाराजीव जी पांडेय (प्रांत शारीरिक प्रमुख, महाकोशल प्रांत)

 सह मुख्य शिक्षक :- श्री. के. प्रशांतजी (कन्नूर विभाग प्रचारक, केरल प्रांत)

 बौद्धिक प्रमुख :- श्री कृष्णाजी जोशी (प्रांत बौद्धिक प्रमुख, उत्तर कर्नाटक प्रांत)

 सह बौद्धिक प्रमुख:- श्री. सुरेश कपीलजी (प्रान्त बौद्धिक प्रमुख, हिमाचल प्रांत)

 सेवा प्रमुख :- डॉ. उपेंद्र जी कुलकर्णी (पश्चिम क्षेत्र सेवा प्रमुख)

 व्यवस्था प्रमुख :- श्री. रवींद्र जी मैत्रे (नंदनवन भाग कार्यवाह, नागपूर महानगर)

2

3

Periodicals