हिंदुओं की बिरादरी अनेक, लेकिन सबके पुरखे एक – डॉ प्रवीण भाई तोगड़िया

करनाल (विसंकें). विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय कार्य अध्यक्ष डॉ प्रवीण भाई तोगड़िया ने कहा कि विश्व हिंदू परिषद का घर वापसी कार्यक्रम जारी रहेगा. उन्होंने कहा कि संसद में धर्मांतरण पर कानून बनाए जाने का विरोध करने वाले वास्तव में हिंदू विरोधी हैं.

डॉ तोगड़िया करनाल में विहिप के स्वर्ण जयंती वर्ष के उपलक्ष्य में आयोजित हिंदू सम्मेलन में उपस्थित लोगों को संबोधित कर रहे थे. डॉ प्रवीण भाई तोगडिय़ा ने कहा कि 2000 वर्षों से हिंदू सुरक्षित नहीं है. हिंदू लगातार घट रहा है. अब तक हमारी जनसंख्या 700 करोड़ होती, जो 100 करोड़ है. अगर यही हाल रहा तो 100 वर्षों बाद हिंदू नहीं बचेगा, लेकिन विश्व हिंदू परिषद ने ऐसा एक्शन प्लान तैयार किया है, जिससे अब हिंदू घटेगा नहीं, बढ़ेगा.

उल्लास तब मनाएंगे, जब कश्मीरी अपने घर जाएंगे

डॉ. तोगडिय़ा ने कहा कि हम उल्लास मनाने के लिये एकत्रित नहीं हो रहे हैं. हम उल्लास तब मनाएंगे, जब कश्मीर की धरती पर जिहादियों को कुचलकर हिंदुओं की घर वापसी करेंगे और अखंड भारत की स्थापना कर लेंगे. उल्लास तब मनाएंगे, जब अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण हो जाएगा. उन्होंने कहा कि मुलायम सिंह और सोनिया गांधी धर्मांतरण के विरोधी नहीं, बल्कि हिंदू के विरोधी हैं. यदि ये लोग सही में धर्मांतरण के विरोधी हैं तो संसद में कानून पास कराएं. हिंदुओं का बच्चा-बच्चा धर्मांतरण नहीं चाहता. हिंदुओं का धर्मांतरण नहीं होता तो पाकिस्तान, काबुल कंधार नहीं होता. 1400 साल पहले मक्का-मदीना में भी हिंदू ही थे.

बिरादरी अनेक, लेकिन पुरखे एक

उन्होंने कहा कि हिंदुओं की बिरादरी अनेक, लेकिन इनके पुरखे एक हैं. इसलिए भारत में वही होगा जो हिंदू चाहेगा. देश का हिंदू जगेगा तो लाहौर रावलपिंडी पर फिर से भगवा फहरा देंगे. कहा कि गुजरात में जून तक गो भोजनालय खोले जाएंगे. इस अवसर पर उन्होंने गाय के गोबर-मूत्र से बनाए गए प्रोडक्ट की जानकारी भी दी.

हम कहां से कहां पहुंचे

डॉ तोगडिय़ा ने कहा कि विश्व व्यापार में 500 साल पहले हमारा हिस्सा 35 प्रतिशत होता था, लेकिन आज 1 प्रतिशत रह गया. एक हजार साल पहले दुनिया में भारत की शिक्षा का शोर था, लेकिन पिछले 2000 साल में सबकुछ छिन गया. आज हर रोज भारत में लाखों लोग भूखे सोते हैं. 5 करोड़ युवा बेरोजगार हैं. 10 सालों में 4 लाख किसानों ने आत्महत्या कर ली है. हिंदुओं का दुनिया से नामोनिशान मिट गया. अब अपनी मातृभूमि पर भी वह संकट में है. 1781 में खिलजी ने देश को लूटा. ईरान तुर्कीस्तानियों ने हिंदुओं की समृद्धि लूटी. खिलजी ने नालंदा को जलाया.

विश्व हिंदू परिषद का एक्शन प्लान

कहा कि विश्व हिंदू परिषद ने एक्शन प्लान बनाया है, जिसका मकसद सुरक्षित हिंदू, समृद्ध हिंदू, सम्मान युक्त हिंदू है.

परिषद के एक्शन प्लान के तहत अब हिंदू घटेगा नहीं, बल्कि बढ़ेगा.

धर्मांतरण को न, घर वापसी को हां

लव जेहाद से ना, समान नागरिक संहिता हां

बंगलादेशी नागरिकों को ना.

सबके लिए हो समान कानून

डॉ तोगड़िया ने चार-चार पत्नी रखने पर मुसलमानों को आड़े हाथ लिया. कहा कि हम लव जेहाद बिलकुल भी बर्दाश्त नहीं करेंगे. एक देश में एक संविधान और दो कानून नहीं चलेगा. समान नागरिक कानून लाकर रहेंगे. भारत का संविधान बदलकर देश को हिंदू राष्ट्र बनाया जाएगा.

धर्मांतरण नहीं रुका तो कोई और करेगा विकास का उपभोग

डॉ तोगड़िया ने कहा कि आज देश के नेता विकास की चर्चा कर रहे हैं, लेकिन सोचने की बात यह है कि यदि धर्मांतरण इसी तरह जारी रहा तो इस विकास का उपभोग कोई और ही करेगा. वर्ष 1947 में पाकिस्तान में 10 प्रतिशत हिंदू थे जो अब 1 प्रतिशत हैं. बंगला देश में 30 प्रतिशत थे जहां अब मात्र आठ प्रतिशत हैं. बंगाल और असम में हिंदुओं के गांव के गांव खाली हो रहे हैं. देश में हिंदू सुरक्षित
नहीं, बहन-बेटी सुरक्षित नहीं और गाय माता सुरक्षित नहीं.

हिंदुत्व मजहब नहीं बल्कि जीवन पद्धति : स्वामी ज्ञानानंद महाराज

महामंडलेश्वर स्वामी ज्ञानानंद महाराज ने कहा कि हिंदुत्व मजहब नहीं है. यह ऐसी दिव्यता, उदारता और शांति की प्रतीक है जो पूरे संसार के कल्याण की बात करता है. श्रीमद् भगवतगीता एवं अन्य धार्मिक ग्रंथों में संकीर्णता की एक भी बात नहीं है. उन्होंने कहा कि जाति का स्वाभिमान बुराई नहीं है, लेकिन यह हमारे हिंदुत्व पर हावी नहीं होनी चाहिये.

धर्म से गए सभी को वापस लाना है : दिव्यानंद

विश्व हिंदू परिषद के केंद्रीय मार्गदर्शक मंडल के सदस्य स्वामी दिव्यानंद योगीराज ने कहा कि हिंदू धर्म से अन्य धर्म को स्वीकार करने वालों को फिर से अपने धर्म में वापस लाना है. अन्य धर्म को अपनाने वालों को गंगाजल पिलाना और यज्ञ से पवित्र करना है.

खाते भारत का हैं और बात पाकिस्तान की करते हैं : तोगड़िया

पानीपत में पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में डॉ रवीण भाई तोगड़िया ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सैयद खाते भारत का हैं, लेकिन बात पाकिस्तान की करते हैं. उन्होंने मुफ्ती के दोहरे चरित्र पर सवाल उठाए. उन्होंने कहा कि मुफ्ती यदि वास्तव में भारत के बारे में सोचते हैं तो कश्मीरी पंडितों को वापस कश्मीर में बसाएं.

Periodicals