हिन्दी विवेक के स्थापना दिवस पर “राष्ट्र पुरुष डॉ. आंबेडकर” विशेषांक का श्री भैयाजी जोशी द्वारा विमोचन

मुंबई (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह सुरेश भय्याजी जोशी ने कहा कि बाबा साहेब आंबेडकर हिन्दू धर्म का हित चाहने वाले थे, इसीलिये उन्होंने मुस्लिम या ईसाई धर्म को स्वीकार न कर बौद्ध धर्म को अपनाया.

हिंदी विवेक पत्रिका ने बाबा साहेब आंबेडकर पर विशेषांक का प्रकाशन किया है. विशेषांक के विमोचन कार्यक्रम में सरकार्यवाह सुरेश भय्या जी जोशी संबोधित कर रहे थे. सरकार्यवाह भय्या जी जोशी ने कहा कि डॉ साहेब ने केवल समाज में फैली कुछ कुरीतियों का विरोध किया था, कुरीतियों का विरोध करते हुए ही बौद्ध धर्म को अपनाया था. बाबासाहेब आंबेडकर सच्चे राष्ट्र निर्माता के साथ ही ऊंच-नीच के भेदभाव से दूर रहते थे. ऊंच-नीच के भेदभाव के खिलाफ उन्होंने सदैव संघर्ष किया.

हिन्दी विवेक ने अपने स्थापना दिवस के अवसर पर राष्ट्र पुरुष डॉ आंबेडकर नामक अंक का प्रकाशन किया है तो इसी अवसर पर रमेश पतंगे द्वारा लिखित सामाजिक न्याय और डॉ बाबासाहेब आंबेडकर नामक पुस्तक का भी विमोचन किया गया. कार्यक्रम में मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, सामाजिक न्याय मंत्री दिलीप कांबले, विवेक के प्रबंध संपादक दिलीप करंबेलकर, समरसता अध्ययन केंद्र के अध्यक्ष सुरेश हावरे और विवेक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमोल पेडणेकर सहित गणमान्य जन उपस्थित थे.

Bhaiyyaji 3

Periodicals