Importants Day

Dindayal ji

एकात्म मानववाद के प्रणेता “पंडित दीनदयाल उपाध्याय” / जन्म दिवस – 25 सितम्बर

सुविधाओं में पलकर कोई भी सफलता पा सकता है; पर अभावों के बीच रहकर शिखरों को छूना बहुत कठिन है। 25 सितम्बर, 1916 को जयपुर से अजमेर मार्ग पर स्थित ग्राम धनकिया में अपने नाना पंडित चुन्नीलाल शुक्ल के घर जन्मे पंडित दीनदयाल उपाध्याय ऐसी ही विभूति थे। दीनदयाल जी के पिता श्री भगवती प्रसाद […]

25 September 2018
 
24-september

भारत की वीर पुत्री भीकाजी कामा (मैडम कामा) / जन्म दिवस – 24 सितंबर 1861

भीकाजी कामा जो मैडम कामा के नाम से विख्यात है, भारतीय स्वतन्त्रता आंदोलन एक ऐसा नाम है, जिन्होंने भारत को परतन्त्रता से मुक्त कराने के साथ-साथ विदेशों में क्रांतिकारी आन्दोलन में भी अहम योगदान दिया. एक पारसी टिप्पणीकार ने उनके बारे में कहा था उनका मन अपने आप में एक बालक की तरह अबोध है […]

24 September 2018
 
23-september

हैफा (इजरायल) के युद्ध में भारतीय सैनिकों की वीरता / 23 सितम्बर – 1918

हैफा (इजरायल) का युद्ध 23 सितम्बर – 1918 :- इस युद्ध में भारतीय सैनिकों की वीरता की कहानी इस्राइली किताबों में पढाई जाती है –   अपने देश मे अनजान रहे कुछ भारतीय सैनिको को इजरायल मे सम्मान के साथ याद किया जाता है और उनकी वीरता की कहानी इस्राइली किताबों में पढाई जाती है. […]

23 September 2018
 
22-september

देश एवं विदेश में बसे भारतीयों की सेवा को समर्पित “श्री श्रीनिवास शास्त्री” / जन्म दिवस – 22 सितम्बर

अपने विचारों की स्पष्टता के साथ ही दूसरे के दृष्टिकोण को भी ठीक से सुनने, समझने एवं स्वीकार करने की क्षमता होने के कारण श्री वी.एस श्रीनिवास शास्त्री एक समय गांधी जी और लार्ड इरविन में समझौता कराने में सफल हुए। इसके लिए 4 मार्च, 1931 को वायसराय ने पत्र द्वारा उन्हें धन्यवाद दिया – गांधी जी से समझौता कराने […]

22 September 2018
 
Inamdar-RSS-Leader

वकील साहब : लक्ष्मणराव इनामदार / जन्म दिवस – 21 सितम्बर

गुजरात में वकील साहब के नाम से लोकप्रिय श्री लक्ष्मण माधवराव इनामदार का जन्म 21 सितम्बर, 1917 (भाद्रपद शुदी 5, ऋषि पंचमी) को ग्राम खटाव (जिला सतारा, महाराष्ट्र) में हुआ था। इनके पूर्वज श्रीकृष्णराव खटावदार ने शिवाजी के काल में स्वराज की बहुत सेवा की थी, अतः शिवाजी के पौत्र छत्रपति शाहूजी महाराज ने उन्हें इनाम में कुछ भूमि और ‘सरदार’ की उपाधि […]

21 September 2018
 
20-sep

एकात्मता के पुजारी : नारायण गुरु / पुण्य तिथि – 20 सितम्बर

हिन्दू धर्म विश्व का सर्वश्रेष्ठ धर्म है; पर छुआछूत और ऊंचनीच जैसी कुरीतियों के कारण हमें नीचा भी देखना पड़ता है। इसका सबसे अधिक प्रकोप किसी समय केरल में था। इससे संघर्ष कर एकात्मता का संचार करने वाले श्री नारायण गुरु का जन्म 1856 ई. में तिरुअनंतपुरम् के पास चेम्बा जनती कस्बे में ऐजवा जाति के श्री मदन एवं […]

20 September 2018
 
19-septgember

वेदमूर्ति : पंडित श्रीपाद सातवलेकर / जन्म दिवस – 19 सितम्बर 1867

वेदों के सुप्रसिद्ध भाष्यकार पंडित श्रीपाद दामोदर सातवलेकर का जन्म 19 सितम्बर, 1867 को महाराष्ट्र के सावंतवाड़ी रियासत के कोलगाव में हुआ था। जन्मपत्री के अनुसार 16 वें वर्ष में उनकी मृत्यु का योग था; पर ईश्वर की कृपा से उन्होंने 102 की आयु पाई। वेदपाठी परिवार होने से उनके कानों में सदा वेदमंत्र गूंजते रहते थे। मामा श्री पेंढारकर के घर सावंतवाड़ी […]

19 September 2018
 
3333

महाराजा शंकर शाह और राजकुमार रघुनाथ शाह / बलिदान दिवस – 18 सितम्बर.

कविता सुनाकर मृत्यु को गले लगाया 1857 ई0 में जबलपुर में तैनात अंग्रेजों की 52वीं रेजिमेण्ट का कमाण्डर क्लार्क बहुत क्रूर था। वह छोटे राजाओं, जमीदारों एवं जनता को बहुत परेशान करता था। यह देखकर गोण्डवाना (वर्तमान जबलपुर) के राजा शंकरशाह ने उसके अत्याचारों का विरोध करने का निर्णय लिया। राजा एवं राजकुमार दोनों अच्छे कवि थे। उन्होंने कविताओं […]

18 September 2018
 
17-september

निजाम का आत्म समर्पण – हैदराबाद का भारत मे विलय / 17 सितम्बर, 1948

जब १९४७ में भारत आजाद हो गया उसके बाद हैदराबाद की जनता भी भारत में विलय चाहती थी. पर उनके आन्दोलन को निजाम ने अपनी निजी सेना रजाकार के द्वारा दबाना शुरू कर दिया. रजाकार एक निजी सेना (मिलिशिया) थी जो निजाम ओसमान अली खान के शासन को बनाए रखने तथा हैदराबाद को नव स्वतंत्र […]

17 September 2018
 
16-september

लेफ्टिनेंट कर्नल ए. बी. तारापोर ( परमवीर चक्र ) ने अकेले उड़ाए थे पाक के 60 टैंक / बलिदान दिवस – 16 सितम्बर 1965 ​​

​’परमवीर’ ने अकेले उड़ाए थे पाक के 60 टैंक, गोली खाकर भी चलाते रहे बंदूक कमांडिंग ऑफिसर लेफ्टिनेंट कर्नल अर्देशिर बुरजोरजी तारापोर – ​वे जख्मी थे, फिर भी लड़ते रहे। उन्हें ऑर्डर मिले थे पीछे हटने के, पर नहीं हटे। लौटते तो अपनी जान बचा सकते थे, लेकिन उन्होंने आगे बढ़ना स्वीकारा। उन्हें गोली लगी […]

16 September 2018