News

1

गुजरात प्रांत के वरिष्ठ प्रचारक माननीय नरेंद्रभाई पंचासारा का निधन

गुजरात प्रांत के वरिष्ठ प्रचारक एवं प्रांत व्यवस्था प्रमुख , पूर्व सह प्रांत प्रचारक रहे ऐसे माननीय नरेंद्रभाई पंचासारा का निधन दिनांक 10 नवंबर रात्रि को 11: 25 बजे हुआ है. उनकी अंतिम यात्रा 11-11-2017, शनिवार को सूरत रांदेर स्थित विभाग कार्यालय “श्री गुरुजी स्मृति” से दोपहर 2:30 बजे निकलेगी. श्रद्धांजलि सभा : दिनांक 12-11-2017, रविवार […]

11 November 2017
 
pune-mohan-ji-bhagwat

जीवन में सफलता के साथ सार्थकता भी जरूरी है – डॉ. मोहन भागवत जी

पुणे (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि बिना सफलता के संतुष्टि नहीं मिलती है. सफलता के साथ सार्थकता पाने के लिए भी प्रयास करना पड़ता है. सरसंघचालक जी पुणे में लता मंगेशकर मेडिकल फाउंडेशन के दीनानाथ मंगेशकर अस्पताल में कुसालकर ऑटोमेटिक व एक्स-रे सेंटर का लोकार्पण करने के […]

10 November 2017
 
1

संगीत से पैदा होता है समरसता का भाव – डॉ. मोहन भागवत जी

जयपुर (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि भारत का शास्त्रीय संगीत विश्व को सत्य, करुणा और पवित्रता की ओर ले जाता है. जहां विश्व में संगीत में मनोरंजन पक्ष पर ध्यान रखा जाता है, जबकि हमारे देश में परंपरा से संगीत को सत्य, करुणा और पवित्रता उत्पन्न करने […]

7 November 2017
 
1

आतंकी विचाधारा को समाप्त करने से ही आतंकवादी समाप्त होंगे – श्री अरूण कुमार

नई दिल्ली , 4 नवम्बर। हमारे देश में अध्ययन पहले की अपेक्षा कम हो गया है, जिसका असर राष्ट्र की नीति बनाने पर भी दिखता है। अपने देश के साथ-साथ अन्य देशों पर भी अध्ययन कम हुआ है। जिसके कारण कई तरह की समस्याएं सामने आ रही हैं। जबकि चीन हम पर और हमारे बाजारों […]

6 November 2017
 
1

हमें विज्ञान और अध्यात्म के बीच समन्वय बैठाने की आवश्यकता है – डॉ. कृष्ण गोपाल जी

नई दिल्ली (इंविसंकें). युवा विमर्श तीन दिवसीय सम्मेलन का शुभारम्भ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्ण गोपाल जी ने किया. उन्होंने भारतीय जनसंचार संस्थान के सभागृह में ‘आधुनिक सभ्यता की चुनौतियां’ विषय पर कहा कि विज्ञान की आंख सीमित है. जहां विज्ञान रुकता है, वहां से अध्यात्म शुरु होता है. आधुनिक सिविलाइजेशन में […]

3 November 2017
 
1

विविधता भरे भारत में एक शाश्वत सत्य हमारी सांस्कृतिक एकता है – डॉ. मोहन भागवत जी

इंदौर (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि समाज में एक प्रभावी संगठन खड़ा करने के लिए संघ नहीं बना है, समाज को संगठित करने के लिए संघ कार्य करता है. जिस देश के युवा गुण संपन्न सामाजिक हित में जीने-मरने के लिए तैयार रहते हैं, उस समाज का, देश […]

28 October 2017
 
3

गुरु गोबिंद सिंह जी हमारे लिए प्रेरणा के स्त्रोत है और रहेंगे – डॉ. मोहनराव भागवत

नई दिल्ली , 25 अक्टूबर।  देश को आगे बढ़ाने वालों में  दशमेश  गुरु गोबिंद सिंह जी महाराज एक बड़ा कारण रहे हैं , इसलिए बच्चा- बच्चा उन्हें अपना आदर्श मानता है , उनके जैसा बनना चाहता है। यही कारण है भारत की पहचान विश्व में बताने वाले विवेकानंद जी ने कहा है भारत के गौरव […]

26 October 2017
 
mahavir-ji..1

वरिष्ठ प्रचारक महावीर जी का हृदयाघात से चंडीगढ़ में निधन

24 October राष्ट्रीय स्वयंसेवक के वरिष्ठ प्रचारक एवं अखिल भारतीय कार्यकारिणी के सदस्य महावीर जी का हृदयाघात के कारण 24 अक्तूबर को पीजीआई चंडीगढ़ में निधन हो गया. स्व. महावीर जी का पार्थिव शरीर अंतिम दर्शन के लिए संघ कार्यालय चंडीगढ़ में रखा गया, जहाँ हजारों स्वयंसेवकों ने उन्हें अश्रुपूरित श्रद्धाँजलि अर्पित की. महावीर जी […]

25 October 2017
 
111

सिक्ख धर्म और गुरूबाणी के प्रति संघ रखता है पूर्ण श्रद्धा एवं आस्था – बृजभूषण सिंह बेदी (पंजाब प्रांत संघचालक)

जालन्धर (विसंकें). सिक्ख भी जैन और बौद्ध की भांति ही एक सामाजिक-धार्मिक मान्यता प्राप्त धर्म है और सिक्खों की एक अलग पहचान है. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ स्पष्टता के साथ सिक्ख धर्म को मानता है और हमेशा से ही सिक्ख धर्म की अलग पहचान को मान्यता देता आया है. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पंजाब प्रांत के […]

24 October 2017
 
2

हिन्दुत्व की राह पर चल कर ही भारत फिर बनेगा विश्व गुरु – डॉ. मोहन भागवत जी

कोलकत्ता. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने भगिनी निवेदिता के 150वें जन्मदिवस पर कोलकत्ता में राष्ट्रवाद विषय पर आयोजित सम्मेलन में कहा कि स्वामी विवेकानंद जी ने जो राह चुनी थी, वह व्यक्ति व समाज को तैयार करने की थी. भगिनी निवेदिता ने स्वामी जी के आदेश का पूर्ण अनुशासन से […]

17 October 2017